Saturday, June 12, 2021
HomeFeaturedखास खबरडेयरी के नाम पर लोगों के साथ हुआ छलावा

डेयरी के नाम पर लोगों के साथ हुआ छलावा

दीपक सिंह चौहान

कोरिया– राज्य डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत पशु विभाग से लोन लेकर डेयरी उद्योग डालना हितग्राहियों को महंगा पड़ गया है अधिकतम 12लाख रुपए तक लोन मिलना था जिसमें 50% तक सब्सिडी का प्रावधान था शासन की योजनाओं के अनुसार 50% तक सब्सिडी मिलने का प्रावधान था परंतु यह सब्सिडी हितग्राहियों तक नहीं पहुंच पा रही है जिस वजह से  यह योजना दम तोड़ चुकी है एक तरफ जहां राज्य शासन लोगों को स्वरोजगार के माध्यम से जोड़ने का दिखावा कर रही है मगर धरातल पर हकीकत कुछ और है।बैंक ले रही है 12 परसेंट ब्याज

डेयरी लोन लिए हितग्राहियों ने बताया कि जिस भी बैंक से लोन लिए हैं वह बैंक लगभग 12%की दर से ब्याज वसूल रही है  बैंक के अधिकारियों का कहना है कि जिस दिन 50% सब्सिडी आपके अकाउंट पर आएगी उस तारीख से छूट दी जाएगी लेकिन सब्सिडी नहीं आने पर बैंक पूरे राशि पर ब्याज वसूल रही है ऐसे में हितग्राही अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे हैं।

इनका यह है कहना

इस संबंध में डिप्टी डायरेक्टर पशु विभाग से जब जानकारी मांगी गई तो इनके द्वारा कहा गया कि इस संबंध में राज्य सरकार ही बता पाएगी और 1 एक साल से सब्सिडी नही आई है आती होगी जब आवंटन आएगा तो दिया जाएगा l

डिप्टी डायरेक्टर (पशु विभाग)

डॉ एस के मिश्रा

हितग्राही का यह है कहना

इस संबंध में हितग्राही प्रकाश भट्टाचार्य ने बताया कि सब्सिडी के लालच में मैं डेयरी लोन तो ले लिया पर यह मेरे गले फांस बन चुका है शुरुआत में यह योजना बहुत अच्छी थी परंतु सब्सिडी नहीं आने से लोग इस योजना को लेकर बर्बाद हो रहे हैं l

 

 

Deepak Singh Chauhanhttp://expressnewsindia.in
Journalist and Editor-in-Chief of Express News India , Deepak Singh Chauhan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments